Pages

Saturday, September 12, 2009

भारत-चीन सीमा विवाद

समय-समय पर चीन अपनी वास्तविकता का परिचय देता आ रहा है कि वह भारत के बारे में क्या सोचता है । सीमा के अतिक्रमण  की बात नयी नहीं । अपनी कमजोरियों के चलते भारत को १९६२ में हार का सामना भी करना पड़ा है पर अब वह हालात नहीं कि आसानी से जिसको जो करना है कर के निकल जायेगा।माकूल जवाब देने में भारत आज समर्थ है । सीमा के अतिक्रमण से चीन बाज नहीं आ रहा । सीधे तौर पर चीन अपना रुख साफ नहीं कर रहा ।

आज भारत भी अपने लिये सैन्य व सुरक्षा की दृष्टि सक्षम है । चाहे चीन लाख प्रयास कर ले पर उसके मंसूबे पूरे नहीं हो सकते । एशिया में भारत अपनी पहचान हर स्तर पर साबित कर रहा है । किसी भी बहकावे में आने की स्थिति आज नहीं ।

4 comments:

  1. अच्छी जानकारी.. हैपी ब्लॉगिंग

    ReplyDelete
  2. चाहे चीन लाख प्रयास कर ले पर उसके मंसूबे पूरे नहीं हो सकते ।

    haan!........ bhai....china ke mansoobe kabhi nahi poore ho sakte....

    bahut badhiya.......

    ReplyDelete
  3. "आज भारत भी अपने लिये सैन्य व सुरक्षा की दृष्टि सक्षम है । चाहे चीन लाख प्रयास कर ले पर उसके मंसूबे पूरे नहीं हो सकते । एशिया में भारत अपनी पहचान हर स्तर पर साबित कर रहा है । किसी भी बहकावे में आने की स्थिति आज नहीं ।"

    उत्साह का संचार करने वाला सुन्दर लेख है!
    हिन्दी-दिवस की शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete

टिप्पणियाँ दे । हौसला बढ़ेगा । आभार ।

LinkWithin

Blog Widget by LinkWithin